जादुई चक्की. Best Hindi Story

Jadui chakki ki kahani and jadui chakki ki new kahani

जादुई चक्की

Bhola: — Do you need sapphire? Read Magical Mill Full Story for Kids Shyamu saw that what Bhola had asked for from the mill Jadui chakki was leaving immediately. Shyamu brings the room and talks to the mill, the mill that I want to sleep, that immediately the gold starts coming out And sometimes gold fills the room with gold, Shyamu closes the mill but the mill does not stop. Bhola takes the sapphire and gives the old man access to his house and leaves the market from there. एक दिन राज छुप-छुपकर शिवम् के घर की खिड़की में से जादुई चक्की से सब कुछ देख लेता है। और वह शिवम् के सोने के बाद उस जादुई चक्की को चुरा लेता है परन्तु राज को जादुई चक्की को रोकने का तरीका नहीं नहीं पता होता। जादुई चक्की को चुराने के बाद राज गाँव को छोडने की ठान लेता है। और वह अपने पूरे परिवार और जादुई चक्की के साथ गाँव को छोड़कर जाने लगता है। राज को गाँव से निकलने के लिए एक नदी को पार करना होता है। जिसे पार करने के लिए वह अपने बीवी बच्चो सहित एक नाव में बैठ जाता है। राज अपने लालच के कारण अपने आप को रोक नहीं पता और वह बीच नदी में ही उस जादुई चक्की को चलाकर उस चकिकी से नमक मांगने लगता है। परन्तु राज को यह नहीं पता होता की उस उस जादुई चक्की को रोके कैसे? Shyamu understood that this is the reason for Bhola getting rich. तो देर किस बात की, चलिए शुरू करते है जादुई चक्की की कहानी । यह प्रेरणादायक कहानी आपको जीवन का एक बड़ा सबक सिखाएगीं। तो चलिए Jadui Chakki की entertainment and motivation से भरी दुनिया में चलते है। एक भरतपुर नाम के गाँव में दो brothers रहते थे। बड़े भाई का नाम राज और छोटे भाई का नाम शिवम् था। परन्तु उनकी आपसी मनमुटाव एवं रंजिश के कारण दोनों भाई अपने परिवार के साथ अलग-अलग रहना पसंद करते थे। राज का परिवार बहुत ही शान-ओ-शौकत royal way के साथ गाँव में रहता था। उसके पास रूपये, पैसे, धन और दौलत की किसी प्रकार से कोई कमी नहीं थी। Two Brother in Jadui Chakki Story वही दूसरी तरफ उसका भाई शिवम् बेहद गरीब था। और शिवम् के लिए अपने परिवार के लिए दो वक्त की रोटी का इंतजाम करना भी बेहद मुश्किल होता था। एक दिन शिवम् के घर पर कुछ भी खाने के लिए नहीं बचा था, शिवम् की पत्नी उसे अपने भाई राज के घर से मदद के लिए कहती है। जैसे ही राज शिवम् को अपने घर पर आते हुए देखता है वह गुस्से से जल भुनकर आग बबूला हो जाता है। और वह अपने भाई शिवम् को बहुत कुछ भरा बुरा कहता है और उसे उसी वक़्त वहाँ से चले जाने के लिए कहता है। इतना सब सुन उल्टा सुनकर शिवम् अपने घर के लिए वापिस लौट कर जाने लगता है। घर पर लौटते वक़्त शिवम् को रास्ते में उसे एक बूढ़ा आदमी मिलता है। वह बूढ़ा आदमी अकेले ही एक लकड़ी के एक को उठाने की व्यर्थ कोशिश कर रहा होता है। लेकिन बहुत बार कोशिश करने के बाद भी वह सफल नहीं हो पता है। यह देखकर शिवम् उस बुजुर्ग के पास जाता है और उसे मदद करने लगता है। बूढ़ा आदमी शिवम् को अपने घर पर उस लकड़ी के उस गठ्ठे को उत्थाक्र ले जाने के लिए मदद मांगता है। शिवम् के मददगार स्वभाव होने के कारण वह उस लकड़ी के गठ्ठे को उठाकर अपने चौड़े कंधे पर लाद लेता है और उस बूढ़े आदमी के साथ उसके घर चल पड़ता है। रास्ते भर में जाते हुए वह बूढ़ा आदमी शिवम् के उदास और परेशान चेहरे की और देखता रहता है। और बूढ़े आदमी ने घर पहुँचने पर शिवम् से उसकी उदासी का कारण पूछता। और शिवम् उस बूढ़े आदमी को अपनी गरीबी से त्रस्त जीवन के बारे में उस बूढ़े आदमी को सबकुछ बता देता है। शिवम् की दर्दभरी व्यथा सुनकर बूढ़ा आदमी शिवम् को एक जादुई चक्की Jadui Chakki के बारे में विस्तार से बताता है। और शिवम् को कहता है की यह Jadui Chakki तुम्हारी सभी प्रकार की problem को solve कर देगा। परन्तु उस जादुई चक्की को पाने के लिए उसे जंगल jungle जाना होगा। उस जंगल jungle में तुम्हे आम के चार पेड़ मिलेंगे, और उन चार आम के पेड़ो के पीछे तुम्हे एक गुफा मिलेगी जहाँ पर तीन बौने लोग रहते है। और उन्ही के पास वो जादुई चक्की है जो तुम्हारी सभी प्रकार की समस्या को आसानी से हल कर देगी। उस जादुई चक्की को पाने के लिए तुम्हे उन तीन बोंनो को एक-एक मीठी रोटी देनी होगी जो की उन्हें बेहद पसंद है। Three Dwarf of Jadui Chakki Story शिवम् उस बूढे आदमी की सभी बातो को बेहद ध्यान से सुनता है। और ठीक बूढ़े आदमी के द्वारा बताये गए तरीके से ही उसे वह जादुई चक्की मिल जाती है। शिवम् को चक्की देते समय उनमे से एक बौना शिवम् को बताता है। के तुम इस चक्की को उसके बताये गए तरीके से घुमा कर जो कुछ भी चक्की से मागोगे वह तुम्हे मिल जाएगा। लेकिन इस जादुई चक्की को रोकने के लिए तुम्हे चक्की को एक सुनहरे कपड़े से पूरी तरह से ढकना होगा। बौने की हां में हां मिलकर शिवम् उस जादुई चक्की को घर ले आता है। और वह उस जादुई चक्की से जो कुछ भी मांगता उसे मिल जाता। उसके बाद शिवम् उस जादुई चक्की को सुनहरे कपड़े से ढक देता, जादुई चक्की से मिले आटा, दाल, और चावल सब कुछ वह बाजार में जा कर अच्छे मूल्य में बेच देता और कुछ ही दिनों में शिवम् बेहद अमीर हो जाता है। उसको अमीर होता देखा उसका भाई राज उससे बेहद जलने लगता है। और राज यह जानने के लिए अत्यधिक उत्सुक हो जाता है की आखिर शिवम् इतना अमीर कैसे हुआ? New Hindi Moral of Daddy Chakki When the old man gets rest, he sees that Bhola was very poor, then the old man gives Bhola a sapphire and says that he should sell it in the market only to those who need it.

Next

Jadui chakki ki kahani and jadui chakki ki new kahani

जादुई चक्की

श्याम की पत्नी ने उसे रस्ते में खाने के लिए थोड़ा भोजन और पीने का पानी साथ में दे दिया। श्याम बाजार तक पहुँचा तो उसने देखा की एक बूढी औरत भूख से तड़प रही थी. जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani अब उनके दिन बदलने वाले थे क्योकि उन्हें अब खाना मिल गया था आज उन्हें कोई कमी नहीं था भले ही उन्होंने धन का लालच नहीं किया था क्योकि वह उस जादुई चक्की से अपने लिए खाना ही मंगवाते थे उन्हें जब भी भूख लगती है वह उस जादुई चक्की से अपने लिए भोजन की व्यवस्था कर चुके होते है पत्नी भी अब जानती थी की अब हमे मुसीबत का सामना नहीं करना होगा उनका पड़ोसी यह सब देख रहा था की आज उनके पास खाने को सब कुछ है. जादुई चक्की की कहानी, Jadui chakki ki kahani बहुत पुरानी है, एक गांव में रामू नाम का आदमी रहता था वह बहुत ही गरीब था उसका परिवार बहुत मुश्किल में था क्योकि वह अपने परिवार को कोई भी सुविधा नहीं दे पाता था, जिससे उसका परिवार मुश्किल में था but वह तो यही बात सोचता था की जो भी भगवान करते है वह अच्छा ही करते है यह भी हो सकता है की भगवान ने उनके लिए कुछ अच्छा ही सोचा होगा जिसे वह वक़्त आने पर ही देंगे जादुई चक्की की कहानी : Jadui chakki ki kahani jadui chakki ki kahani Jadui chakki ki kahani, एक दिन रात को रामू सो रहा था तभी वह सपना देखता है की उसके पास एक जादुई चक्की jadui chakki आती है वह उस जादुई चक्की jadui chakki से अपने लिए बहुत तरह के सामान मगाता है जिससे उसके सामने सभी समस्या खत्म हो रही है वह जादुई चक्की उनके लिए हर तरह का आटा पीस सकती है वह भी सिर्फ नाम लेकर ही ऐसा हो जाता था, रामू को सपना बहुत अच्छा लग रहा था मगर यह सपना कितनी देर तक था यह बात रामू को जब पता चलती है जब उसका सपना टूट जाता है Because सुबह होती है वह उठ जाता है, Jadui chakki ki kahani जब सुबह हो जाती है तो रामू उठ जाता है और अपनी पत्नी से यह बात कहता है की आज मेने सपने में जादुई चक्की देखी थी यह चक्की हमारे लिए सभी काम कर रही थी पत्नी ने कहा की यह तो सपना है but हकीकत में ऐसा नहीं है तुम जाग गए हो और इस तरह के सपने सच नहीं होते है सच में हमारी हालत तो बहुत खराब है हम कुछ भी नहीं कर पाते है रामू भी इस बात को समझ गया था, Jadui chakki ki kahani रामू अपने काम पर जाता है but वह जादुई चक्की का सपना भुला नहीं था उसे याद था की नदी किनारे में उसे वह जादुई चक्की jadui chakki मिली थी अब रामु को लग रहा था की शायद हमारा सपना पूरा हो सकता है वह नदी किनारे पर जाता है but वहा पर कोई भी जादुई चक्की नहीं है वह उदास हो जाता है तभी उसे एक नाव आती हुई नज़र आती है इस नाव में तो कोई भी नहीं है रामू उस नाव की और जाता है और कहता है की इसमें कोई नहीं है but एक चक्की रखी हुई है इसका मतलब मेरा सपना पूरा हो गया है, Jadui chakki ki kahani वह जादुई चक्की jadui chakki जो मेरे सपने में थी वह यहां पर रखी हुई है वह बहुत खुश हो जाता है आज उसका सपना पूरा हो गया था वह उस जादुई चक्की को लेता है और घर चला जाता है वह अपत्नी के पास जाता है और कहता है की मेरा सपना पूरा हो गया है यह जादुई चक्की मुझे मिल गयी है पत्नी देखती है और कहती है की यह बात तो सच है यह काम कैसे करती है क्या तुम्हे पता है, Jadui chakki ki kahani वह आदमी कहता है की इस जादुई चक्की के सामने जो भी नाम लिया जायेगा उसके बाद वह काम करने लगेगी हमे जो भी चाहिए यह दे सकती है but पत्नी को इस बात पर कोई विश्वाश नहीं था रामु ने कहा की हमारी घर में बहुत सारा आटा आ जाए उसके बाद चक्की चलने लगती है और बहुत सारा आटा आ जाता है उसके बाद रामू कहता है की मुझे बहुत सारी दाल मिल जाए वह जादुई चक्की jadui chakki दाल भी पीस देती है आज रामू का परिवार भर पेट खाना खा रहा था आज उसे लग रहा था की भगवान हमेशा अच्छा करते है अब उनके दिन बदलने वाले थे Because उन्हें अब खाना मिल गया था आज उन्हें कोई कमी नहीं था भले ही उन्होंने धन का लालच नहीं किया था क्योकि वह उस जादुई चक्की से अपने लिए खाना ही मंगवाते थे उन्हें जब भी भूख लगती है वह उस जादुई चक्की jadui chakki से अपने लिए भोजन की व्यवस्था कर चुके होते है पत्नी भी अब जानती थी की अब हमे मुसीबत का सामना नहीं करना होगा उनका पड़ोसी यह सब देख रहा था की आज उनके पास खाने को सब कुछ है जबकि ऐसा समय भी था जब उनके पास कुछ नहीं था जरूर इसके पीछे कुछ ऐसा है जो मुझे पता नहीं है वह भी यह देखने के लिए रात को उनके घर के पास खड़ा हो जाता है Because वह इस बता को जानना चाहता था की यह सब कुछ कैसे हो रहा है वह खिड़की के पास खड़ा हुआ था और देख रहा था एक जादुई चक्की jadui chakki यह सब कुछ कर रही है उसे विश्वाश नहीं होता है but जब वह देख रहा था तो उसे अब यकीन हो गया था की यह सब कुछ वह जादुई चक्की कर रही है वह पड़ोसी अब उस जादुई चक्की को लेना चाहता था Because वह सब कुछ कर सकती है वह अपने घर जाता है और कहता है की हमे यह गांव आज रात को ही छोड़ना होगा Because अगर हम यहां पर रहते है तो वह जादुई चक्की कोई भी ले जा सकता है उसकी पत्नी कहती है की यह जादुई चक्की jadui chakki क्या करती है उसका पति कहता है की यह सब कुछ कर सकती है हमे धन भी दे सकती है वह पड़ोसी उनके घर से वह जादुई चक्की को चुरा लेता है Because उसे पता है की यह जादुई चक्की सब कुछ कर सकती है वह कहता है की अब मेरे पास यह चक्की आ गयी है अब हमे यहां से चलना होगा वह पड़ोसी उस जादुई चक्की को लेकर जाता है उसे पता है की अब हमारा यहां पर रहना ठीक नहीं होगा वह एक नाव से दूसरे गांव में जा रहे थे but उसकी पत्नी को विश्वाश नहीं था इसलिए वह कहती है की हमे इस जादुई चक्की jadui chakki से कुछ मांगना चाहिए उसके बाद यह पता चल जाएगा की यह जादुई चक्की काम कर रही है या नहीं, Jadui chakki ki kahani, jadui chakki ki new kahani, वह पड़ोसी कहता है की तुम्हे यकीन नहीं होता है मगर मुझे यकीन है Because मेने उन्हें ऐसा करते देखा था वह जादुई चक्की jadui chakki से कहता है की हमे बहुत सारी दाल दे वह चक्की चलती है और उन्हें दाल देती है मगर रूकती नहीं है वह आदमी कहता है की मुझे पता नहीं इसे कैसे रोकते है उसके बाद वह नाव वजन से डूब जाती है इस तरह यह कहानी हमे यही कहती है की हमे कभी भी गलत काम नहीं करना चाहिए, उसके पड़ोसी ने यह जादुई चक्की की चोरी की थी, जादुई चक्की की कहानी Jadui chakki ki kahani , jadui chakki ki new kahani अगर आपको यह कहानी पसंद आती है तो शेयर जरूर करे सपने में जादुई चक्की की नयी कहानी : Jadui chakki ki kahani Jadui chakki ki kahani, एक आदमी सपने में जादुई चक्की को देखता है वह आदमी सपने में देखता है कि जादुई चक्की उसे मिल जाती हो वह आदमी जब जादुई चक्की को चलाता है तो धन की वर्षा होती है वह आदमी यही सोच रहा था कि अगर जादुई चक्की मुझे मिल जाए तो यहां पर बहुत सारा धन मुझे मिल जाएगा but यह तो मुझे सपना नजर आ रहा है यह सच कैसे होगा वह बात समझ नहीं रहा था, Jadui chakki ki kahani सपने में बहुत सी बातें सच नहीं होती हैं इसलिए वह समझ गया था कि जादुई चक्की का सपना पूरा नहीं होने वाला है जब सुबह होती है तो वह सोचता है कि आज मैं उस जगह पर जरूर जाऊंगा जहां पर जादुई चक्की का सपना मुझे नजर आया था अगर ऐसा हुआ तो हो सकता है कि मुझे जादुई चक्की मिल जाए और मेरे सपना जो अधूरा है वह पूरा हो जाएगा उसी स्थान पर जाता है जहां पर उसने जादुई चक्की का सपना देखा था वह उसी स्थान पर चला तो गया था but उस जगह पर उसे कुछ भी नजर नहीं आ रहा था वह सोच रहा था कि यह सपना कैसे सच हो सकता है यह बात मुझे समझनी चाहिए थी सपने में बहुत सी बातें सच नहीं होती है, Jadui chakki ki kahani इसलिए समझ गया था कि जादुई चक्की जो मुझे सपने में नजर आई थी वह सच में मुझे नहीं मिल सकती और मुझे धन भी कभी नहीं मिलेगा वह अपने घर वापस जा ही रहा था तभी उसे कुछ आवाज आती है यह आवाज जमीन के नीचे से आ रही थी ऐसा लग रहा था कि जमीन के नीचे चक्की चल रही है वह इस बात को मानने के लिए बिल्कुल भी तैयार नहीं था कि जमीन के नीचे चक्की कैसे चल सकती है वह जमीन के पास खड़ा हो जाता है उसे महसूस होता है कि चक्की जमीन के नीचे चल रही है उसे तो कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था इसलिए जमीन को खोदने की कोशिश करता है जिससे कि उसे पता चल सके कि जमीन के नीचे क्या चल रहा है जमीन को खोद लेता है तो उसे जमीन के अंदर जादुई चक्की मिलती है वह बंद है but कुछ देर पहले उसे ऐसा महसूस हो रहा था कि वह चल रही है वह अपने सपने को सच होता हुआ देख रहा था कि उसे जादुई चक्की मिल गई है इसका मतलब यह हो सकता है कि अब मेरे घर में धन की वर्षा होने वाली है वह उस जादुई चक्की को लेकर अपने घर पर आ जाता है और अपनी पत्नी को दिखाता है कि यह जादुई चक्की है तुम्हें समझना चाहिए कि यह हमारे सारे सपने पूरे कर सकती हैं उसकी पत्नी कहती है कि तुम्हें यह कैसे पता है कि जादुई चक्की है तभी वह आदमी कहता है कि जब मैं जमीन के ऊपर खड़ा हुआ था तो मुझे महसूस हुआ कि जमीन के नीचे चक्की चल रही है मुझे ऐसा लग रहा था कि यह जादुई चक्की जब मैंने जमीन को खोदकर देखा तो यह चक्की बंद पड़ी हुई थी बताओ कि जमीन के नीचे कोई चक्की कैसे चल सकती है, Jadui chakki ki kahani पत्नी को भी और लग रहा था कि शायद यह जादुई चक्की है इसलिए खुश हो जाती है but वह इस बात को नहीं समझ पाती है इसका हम क्या करेंगे वह आदमी कहता है कि मैंने सपने में जादुई चक्की को चलते हुए देखा था और जब जादुई चक्की चलती है तो घर में धन की वर्षा होती है इसलिए मुझे ऐसा लगता है कि हमारे घर में भी धन की वर्षा होने वाली है मेरा सपना सच होने वाला है इस बात को सुनकर पत्नी को यकीन नहीं होता है वह सोचती है कि सपना है जरूरी नहीं है कि है पूरा हो जाए इसलिए तुम्हें पहले इस चक्की को चलाना होगा उसके बाद ही हम समझेंगे कि क्या कर सकती है कुछ देर बाद वह आदमी जादुई चक्की को चलाना शुरु कर देता है वह जादुई चक्की चलती है तो धन की वर्षा होने लगती है उसका सपना सच हो गया था यह जादुई चक्की हमारे बहुत काम आएगी जब भी हम इसे चलाएंगे धन की वर्षा होती रहेगी जितनी देर जादुई चक्की चल रही थी उतनी ही धन की वर्षा हो रही थी उसकी पत्नी भी बहुत खुश हो गई थी अब उन्हें धन की कोई कमी नहीं थी वह बहुत खुश हो रहे थे और उनके पड़ोसी को इस बारे में पता चल गया था कि वह जादुई चक्की धन की वर्षा करती है Because वह खिड़की में से उन्हें देख रहा था Because दोनों बहुत जोर जोर से बातें कर रहे थे और खुश हो रहे थे उनका पड़ोसी सोचने लगा कि अब यह जादुई चक्की मेरे पास होगी Because मेरे घर में भी धन की वर्षा होनी चाहिए इसलिए मुझे इसे लेना ही होगा उनका पड़ोसी जादुई चक्की को चुराना चाहता था but यह आसान नहीं था 1 दिन पति पत्नी दोनों किसी काम से बाहर गए हुए थे उनके पड़ोसी को पता चल गया था कि वह जादुई चक्की उनके घर में रखी हुई है खिड़की से घर के अंदर जाता है और जादुई चक्की को चुरा लेता है जादुई चक्की को चुरा कर अपने घर पर आता है तो अपनी पत्नी को बताता है कि मुझे जादुई चक्की मिली है जो हमारे लिए बहुत काम आएगी यह हमारे घर में धन की वर्षा करेगी मैंने थोड़ी देर पहले अपने पड़ोसी के घर में धन की वर्षा होते हुए देखी है यह सुनकर उसकी पत्नी भी खुश हो जाती है और वह कहती है कि अब हमें भी चलाना होगा और हमें भी बहुत सारा धन मिल जाएगा वह पड़ोसी बहुत खुश होता है और वह चक्की को चलाना शुरु कर देता है जैसे ही वह चक्की को चलाना शुरु करता है तो उसके घर में पत्थरों की वर्षा होने लगती है यह कैसे हो सकता है कुछ देर पहले तो उनके घर में धन की वर्षा हो रही थी और मेरे चलाने से मेरे घर में पत्थर भर गए हैं जबकि ऐसा नहीं हो सकता उसकी पत्नी कहती है कि इसे बंद करो नहीं तो यह पत्थर हमें घायल कर देंगे पड़ोसी को कुछ भी समझ में नहीं आता है कि क्या हो रहा है यह तो जादुई चक्की है but हमारी किसी भी काम नहीं आ रही है यह तो धन की वर्षा कर ही नहीं रही है सोचता है कि अगर यह हमें ध्न नहीं दे सकती है तो उसे भी धन नहीं मिलना चाहिए, Jadui chakki ki kahani इसलिए वह उस चक्की को ले जाकर जंगल में फेंक देता है जिससे कि उसे भी धन नहीं मिलेगा Because मुझे भी धन नहीं मिल रहा है तो उसे भी नहीं मिलने वाला है पड़ोसी लालची था इसी वजह से उसके घर में धन की वर्षा नहीं हो पाई थी वह दूसरा आदमी सच्चा था इसलिए उसे जादुई चक्की मिली और उसका सपना पूरा हो गया पड़ोसी चक्की को फेंक कर आ रहा था तभी जादुई चक्की फिर से उसके घर वापस लौट आई थी और पत्थरों की वर्षा होने लगी लगी थी उसे कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था कि यह सब क्या हो रहा है तभी वह अपने पड़ोसी को बताता है कि मैंने तुम्हारी जादुई चक्की को चुरा लिया था और वह मेरे घर में पत्थर की वर्षा हो रही है Jadui chakki ki kahani, jadui chakki ki new kahani, अब पता चल गया था कि उसके पड़ोसी ने उसकी जादुई चक्की के बारे में पता लगा लिया है but वह कहता है कि हमें जीवन में लालच नहीं करना चाहिए अगर तुम्हें लालच किया है तो उसका नतीजा तुम देख ही रहे हो कि तुम्हारे घर में धन की वर्षा नहीं हो रही है यहां पर पत्थरों की वर्षा हो रही है इसलिए अगर तुम लालच ना करते तो शायद बहुत अच्छा होता वह आदमी समझ गया था कि मैं लालची हो गया हूं जिसकी वजह से मुझे धन नहीं मिल पाया है हमें कभी भी जीवन में लालच नहीं करना चाहिए, सपने में जादुई चक्की की नयी कहानी Jadui chakki ki kahani , jadui chakki ki new kahani अगर आपको यह कहानी पसंद आती है तो शेयर जरूर करे Read More Hindi Kids Story :-. Here you can read the Jadui chakki story in Hindi. Bhola brings the house and asks the mill. Shyamu does not speak anything and goes to the empty room. जादुई चक्की की नई कहानी jadui chakki ki new kahani जब एक आदमी जंगल में लकड़ियां काटने जा रहा था तभी उसकी नजर एक जादुई चक्की पर पड़ती है लेकिन वह इस बात को नहीं जानता है कि वह जादुई चक्की jadui chakki है वह उसके पास जाता है वह सोचता है कि यह चक्की कहां से आई है जब वह आदमी ध्यान से देखता है तो वह सूरज की रोशनी में चमक रही होती है jadui chakki ki new kahani and jadui chakki story jadui chakki ki new kahani क्योंकि वह सोने की चक्की chakki थी वह आदमी खुश हो जाता है और सोचता है कि सोने से बनी चक्की यह मेरे बहुत काम आ सकती है इसलिए चक्की को लेकर अपने घर पर जाता है और अपनी पत्नी से कहता है कि आज मुझे एक सोने की चक्की chakki मिली है पत्नी कहती है यह तो बहुत अच्छी बात है कि हमें सोना मिल गया है लेकिन इसे हम बेच नहीं सकते हैं अगर हम इसे बेचते हैं तो कोई भी आदमी हमसे यह पूछ सकता है कि यह सोने की चक्की तुम्हारे पास कहां से आई है इसलिए हमें इसका प्रयोग करना होगा वह आदमी उस चक्की को देखता है और सोचता है कि यह हमारी किस काम आ सकती है तभी वह चक्की chakki को घुमाने की कोशिश करता है और मन में उसके बहुत सारे सवाल चल रहे होते हैं उन्हीं सवालों में से एक सवाल यह भी था कि अगर मेरे पास बहुत सारा खाना आ जाता है तो आज मैं भरपेट खाऊंगा जब आदमी इस बात को सोचकर चक्की को चलाता है तो चक्की उसके लिए बहुत सारा खाना आता है यह देखकर आदमी बहुत खुश हो जाता है और सोचता है कि यह सोने की तो बनी है लेकिन साथ ही यह जादुई चक्की भी है मुझे ऐसा लगता है कि है जादुई चक्की jadui chakki हमारे बहुत काम आ सकती है अब पत्नी भी बहुत खुश हो चुकी थी क्योंकि वह जादुई चक्की jadui chakki सोने की बनी हुई थी और दूसरी बात यह थी कि वह उनके लिए खाना भी ला सकती थी और बहुत सारे सामान भी जिनकी जरूरत उन्हें पड़ सकती थी उसके बाद उसकी पत्नी ने बहुत सारे चीजों को अपने घर पर मंगवा लिया था उसने मन में बहुत सारे फर्नीचर के बारे में सोचा था वह सारा फर्नीचर भी आ चुका था जिस तरह पत्नी सोचती चली गई और चक्की को घुमाते चली गई उसी तरह उनका घर सभी सामान से भर चुका था अब उन्हें किसी भी सामान की जरूरत नहीं थी पति-पत्नी का जीवन एकदम से बदल गया था कहां पर वह गरीबी का जीवन व्यतीत कर रहे थे और अचानक वह अमीर बन गए थे यह बात सोचकर आदमी बहुत खुश हो गया था उसको पता चला था कि अगर आज मैं जंगल में ना जाता और लकड़ियां काटने की कोशिश ना करता तो शायद मुझे यह चक्की जीवन में कभी भी नहीं मिलती है एक जादुई चक्की jadui chakki है पत्नी ने कहा कि इस बात की खबर किसी को नहीं होनी चाहिए कि हमारे पास एक जादुई चक्की jadui chakki है जो बहुत कुछ कर सकती है अगर किसी को इस बारे में पता चल जाता है तो वह हमारी चक्की ले सकते हैं इसलिए हमें यह बात किसी को नहीं बतानी आदमी भी इस बात को अच्छी तरह जानता था आदमी ने बहुत सारा कर्ज ले रखा था जो कि उसे साहूकार को चुकाना है साहूकार के पास जाता है और अपना सारा कर्ज चुका देता है या देखकर साहूकार भी सोचता है क्योंकि साहूकार इस बात को जानता है कि यह आदमी कभी भी मेरा कर्ज नहीं चुका सकता है क्योंकि इसके पास इतना धन कहां से आया होगा यह बात साहूकार के मन में चल रही थी लेकिन उस आदमी ने साहूकार को कुछ भी नहीं बताया था रात हो चुकी थी और साहूकार उस आदमी के घर पर चला गया था जिससे कि वह पता कर पाए यह आदमी कहां से इतना सारा धन लेकर आया है जिससे कि मेरा सारा धन चुका दिया साहूकार ने देखा कि उनके पास एक सोने की चक्की chakki है वह सोने की चक्की देख कर चौक गया और सोचने लगा कि यह चक्की jadui chakki इनके पास कैसे आ सकती है यह तो सोने की बनी है साहूकार कुछ देर रुकता है और देखता है कि यह लोग क्या करते हैं तभी साहूकार देखता है कि उस चक्की को वह लोग घुमा रहे थे और हर एक समान घर में ला रहे थे खाने की व्यवस्था भी उन्होंने आसानी से कर देती है देखकर साहूकार चौक गया सोचने लगा कि यह चक्की तो मेरे पास होनी चाहिए इनके पास यह चक्की chakki क्या कर रही है आज तो साहूकार ने देख लिया था कि वह आदमी क्या कर रहा है और किस प्रकार सामान बना रहा है लेकिन साहूकार उस चक्की को लेना चाहता था इसलिए साहूकार के मन में यह विचार चल रहा था कि उस चक्की को कैसे भी प्राप्त किया जाए अगली रात को साहूकार उनके घर पर जाता है वह जब है सो रहे होते हैं तो वह चक्की को चुरा कर ले जाता है जब साहूकार अपने घर पर हो चक्की jadui chakki को लेकर आता है और घुमाने के बाद धन की मांग करता है तो चक्की कुछ भी नहीं देती है यह देखकर साहूकार को बहुत गुस्सा आता है और कहता है कि यह चक्की किसी काम की नहीं है मुझे तो ऐसा लगता है कि वह लोग पता नहीं इसका प्रयोग कैसे कर रहे हैं क्योंकि मैं तो धन मांग रहा हूं यह तो मुझे कहीं भी ध्न नहीं दे रही है कुछ देर बाद ही वह चक्की jadui chakki बोलती है कि तुम लालची हो जितना तुम लालच करते हो उतनी ही तुम लालची बनते जाते हो इसलिए तुम्हारी कोई भी मनोकामना पूरी नहीं हो सकती हो इस प्रकार चक्की वहां से गायब हो जाती है साहूकार सोचता है कि यह मेरे लालच की वजह से हुआ है क्योंकि वह लोग तो चक्की chakki से धन नहीं मांग रहे थे लेकिन वह सभी सामान् मांग रहे थे Jadui chakki ki new kahani jadui chakki story लेकिन मुझे ऐसा लगता है कि धन की मांग नहीं की होगी इस प्रकार साहूकार को लगता है कि उससे गलती हो गई है लेकिन जब अगले दिन ही साहूकार उनके घर फिर से जाता है तो देखता की चक्की वहीं पर अब साहूकार को समझ में आ जाता है कि उसका लालच ही चक्की को गायब करवा चुका था और वह लालची नहीं है इसलिए चक्की उन्हीं के पास है अगर आपको यह जादुई चक्की की नई कहानी, jadui chakki ki new kahani and jadui chakki story पसंद आई है तो आगे भी शेयर करें कमेंट करके हमें बताएं जादुई चक्की से मिला सोना हिंदी कहानी आज मेने देखा की हमारे पड़ोस से चक्की के चलने की आवाज आ रही है, इससे पहले तो कभी भी यहां पर चक्की की आवाज नहीं आती थी उसकी पत्नी भी कहती है की मुझे तो ऐसा लगता है की कुछ बात जो हमे पता नहीं है, हमे चलकर देखना चाहिए, वह दोनों उस घर के पास जाते है जिसमे से वह आवाज आती है, वह देखते है की चक्की चल रही है, उस चक्की में से सोना निकल रहा है यह देखकर वह दोनों सोचते है की यह साधारण चक्की नहीं है यह तो कोई जादुई चक्की है, हमे इसे लेना चाहिए तभी हमारे घर में भी सोना आ जायेगा वह दोनों इस बात का इंतज़ार करते है की जब वह दोनों सो जायँगे तो हम उस जादुई चक्की को चुरा सकते है, कुछ समय बाद ही दोनों सो जाते है आज उन्होंने बहुत सारा सोना प्राप्त कर लिया है बाकी का काम अगली रात को कर सकते है, उनके पड़ोसी खिड़की से अंदर जाकर वह जादुई चक्की चुरा लेते है, जब वह घर आते है तो उसका प्रयोग करते है, Because भी बहुत सारा सोना चाहिए था but वह जादुई चक्की को चलाते है उसमे से कुछ भी नहीं निकलता है उन्हें कुछ भी समझ नहीं आता है, यह कैसे हो सकता है, अभी तो वह देखकर आये थे की सोना निकल रहा है but अभी तो कुछ भी नहीं है, वह सोचते है की हमे मन में बोलना है तभी शायद वह सोना मिल जायेगा मगर ऐसा नहीं था फिर भी वह जादुई चक्की काम नहीं कर रही थी, उनके लिए यह अब बेकार थी Because वह कुछ नहीं करती है, वह उसे दूर जकरा फेंक देते है वह घर आ जाते है अगली रात को फिर से वह जादुई चक्की चलने लगती है उनके पड़ोसी देखते है की वह फिर से सोना देती है यह कैसे हो रहा है Jadui chakki ki new kahani jadui chakki story वह आदमी सोचता है की कोई और बात है जो मुझे पता नहीं है वह उनके घर के पास जाता है जिससे पता चल पाए की यह कैसे काम करती है तभी वह सुनता है की जीके मन में लालच नहीं होता है उसे यह जादुई चक्की सोना देती है अब वह समझ जाता है की यह काम क्यों नहीं कर रही थी, इसलिए जीवन में लालच नहीं करना चाहिए, Read More Hindi Story :- Post navigation.

Next

Jadui Chakki Hindi Moral Story । जादुई चक्की की कहानी

जादुई चक्की

जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani एक दिन रात को रामू सो रहा था तभी वह सपना देखता है की उसके पास एक जादुई चक्की आती है वह उस जादुई चक्की से अपने लिए बहुत तरह के सामान मगाता है जिससे उसके सामने सभी समस्या खत्म हो रही है वह जादुई चक्की उनके लिए हर तरह का आटा पीस सकती है वह भी सिर्फ नाम लेकर ही ऐसा हो जाता था, रामू को सपना बहुत अच्छा लग रहा था मगर यह सपना कितनी देर तक था यह बात रामू को जब पता चलती है जब उसका सपना टूट जाता है क्योकि सुबह होती है वह उठ जाता है, जब सुबह हो जाती है तो रामू उठ जाता है और अपनी पत्नी से यह बात कहता है की आज मेने सपने में जादुई चक्की देखी थी यह चक्की हमारे लिए सभी काम कर रही थी पत्नी ने कहा की यह तो सपना है मगर हकीकत में ऐसा नहीं है तुम जाग गए हो और इस तरह के सपने सच नहीं होते है सच में हमारी हालत तो बहुत खराब है हम कुछ भी नहीं कर पाते है रामू भी इस बात को समझ गया था. Bhola used to cut wood from the forest. जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani वह पड़ोसी अब उस जादुई चक्की को लेना चाहता था क्योकि वह सब कुछ कर सकती है वह अपने घर जाता है और कहता है की हमे यह गांव आज रात को ही छोड़ना होगा क्योकि अगर हम यहां पर रहते है तो वह जादुई चक्की कोई भी ले जा सकता है उसकी पत्नी कहती है की यह जादुई चक्की क्या करती है उसका पति कहता है की यह सब कुछ कर सकती है हमे धन भी दे सकती है. . While Shyamu was rich, he did not do anything, just staying at his house and resting only. We also share with you Jadui pen ki Kahani, Jadui Ped ki Kahani, Jadui Pencil ki Kahani and more stories for you. Jadui Chakki Ki Kahani — बच्चो को जादू टोने की कहानिया बहुत ही अच्छी और रोमांचित करने वाली होती है, ऐसे जादू की कहानिया बच्चो को बहुत ही चाव से सुनते है और अक्सर हर किसी को जादुई कहानिया खूब पसंद आती है तो चलिए एक ऐसी ही Jadui Chakki Ki Kahani बताने जा रहे है जो की बहुत ही अच्छी कहानी है.

Next

जादुई चक्की

जादुई चक्की

जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki jadui-chakki एक कनक पुर नाम का गांव था जहा भोला और श्यामु नाम के दो भाई रहा करते थे । भोला स्वभाव मे ईमानदार और समझदार था जबकी श्यामु स्वभाव मे मुर्ख और लालची था । पिता जी के मृत्यु के बाद दोनो के बीच बँटवारा हो गया था । श्यामु होशियारी करके भोला को कम हिस्सा ही देता है और खुद ज्यादा संपति ले लेता है । लेकिन भोला कुछ नही बोलता है । भोला जंगल से लकड़ी काटकर अपना गुजारा चलाता था । जबकि श्यामु अमीर था इसलिये वह कुछ नही करता था बस अपने घर रहकर केवल आराम करता था । एक दिन भोला जंगल मे लकड़ियाँ काटने गया था तब उसे रास्ते में एक बूढ़ा आदमी के चीखने का आवाज सुनायी दी । जब जा के देखा तो बूढ़ा आदमी पेड़ के नीचे फसा था । भोला बूढ़े आदमी को पेड़ के निचे से निकालता है और उन्हे अपने घर लेकर आता है । बूढ़ा आदमी को जब आराम आता है तो वह देखा कि भोला बहुत गरीब था तो वह बूढ़ा आदमी भोला को एक नीलमणि देता है और बोलता है कि इसे बाजार मे उसे ही बेचना जिसे इसकी जरुरत हो । भोला नीलमणि ले लेता है और बूढ़ा आदमी को उसके घर तक पहुचा देता है और वही से बाजार निकल देता है । बाजार मे एक व्यक्ति चक्की लेकर खड़ा रहता है वह व्यक्ति जब भोला के हाथ मे नीलमणि देखता है तो भोला को बुलाता है । जादुई चक्की की कहानियां हिंदी में Jadui Chakki भोला उसके पास आता है । व्यक्ति भोला से कहता है :- मुझे ये नीलमणि दो मै तुम्हें ये जादुई चक्की Jadui chakki दुंगा । भोला :- क्या तुम्हे नीलमणि की जरुरत है? Bhola removes the old man from the bottom of the tree and brings them to his house. Shyamu cleverly gives Bhola less share and gets more wealth himself. जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani एक गांव में रामू नाम का आदमी रहता था वह बहुत ही गरीब था उसका परिवार बहुत मुश्किल में था क्योकि वह अपने परिवार को कोई भी सुविधा नहीं दे पाता था, जिससे उसका परिवार मुश्किल में था मगर वह तो यही बात सोचता था की जो भी भगवान करते है वह अच्छा ही करते है यह भी हो सकता है की भगवान ने उनके लिए कुछ अच्छा ही सोचा होगा जिसे वह वक़्त आने पर ही देंगे. सोने का अंडा Sone ka Anda — Best Hindi Story एक बार एक किसान के हाथ एक ऐसी मुर्गी लगी जो रोज एक सोने का अंडा देती थी वह हर रोज एक सोने का अंडा बेच कर अमीर होता जा रहा था और धन का ढेर इकट्ठा करता जा रहा था, और नई नई वस्तु अपने परिवार के लिए लेकर आता धीरे धीरे वह गांव में सबसे अमीर हो गया — नया घर , कई सारे घोड़े और बहुत सारा खेत और गाय-भैंसों का मालिक हो गया था एक बार उसने सोचा मुर्गी रोज एक ही अंडा पैदा करती है ना जाने उसके पेट में कितने अंडे हैं इसलिए उसने सोचा कि वह सारे अंडे निकाले कैसे, उसके दिमाग में आया की करना क्या है उसका पेट फाड़ देते हैं, और सारे अंडे निकाल लेते हैं यह सोचकर उसने मुर्गी का पेट फाड़ दिया, फिर मिलना क्या था जो रोज एक अंडा मिलता था, वे उससे भी हाथ धो बैठे तो शिक्षा — इसलिए कहते हैं लालच बुरी बला है दोस्तों इस कहानी Sone Ka Anda से भी हमें एक बहुत अच्छी सीख मिलती है हमें ज्यादा लालच नहीं करना चाहिए जितना मिले उतने में ही खुश रहना चाहिए अगर हम ज्यादा लालच करेंगे तो परिणाम स्वरूप हमें कुछ नहीं मिल पाएगा इसलिए हमें ज्यादा लालच नहीं करनी चाहिए 3. New Moral Story for Kids in English But Bhola does not say anything.

Next

Story for Kids in Hindi

जादुई चक्की

कहानी पसंद आने पर शेयर अवश्य करे. Bhola gives him the sapphire and gets the Magical mill. That person speaks Magical Mill Story in English Jadui Chakki Person: — Listen, you can say whatever you want, this Magical mill will give it to you immediately. One day Bhola went to cut wood in the forest, then he heard an old man screaming on the way. जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani रामू अपने काम पर जाता है मगर वह जादुई चक्की का सपना भुला नहीं था उसे याद था की नदी किनारे में उसे वह जादुई चक्की मिली थी अब रामु को लग रहा था की शायद हमारा सपना पूरा हो सकता है वह नदी किनारे पर जाता है मगर वहा पर कोई भी जादुई चक्की नहीं है वह उदास हो जाता है तभी उसे एक नाव आती हुई नज़र आती है इस नाव में तो कोई भी नहीं है रामू उस नाव की और जाता है और कहता है की इसमें कोई नहीं है मगर एक चक्की रखी हुई है इसका मतलब मेरा सपना पूरा हो गया है जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani वह जादुई चक्की जो मेरे सपने में थी वह यहां पर रखी हुई है वह बहुत खुश हो जाता है आज उसका सपना पूरा हो गया था वह उस जादुई चक्की को लेता है और घर चला जाता है वह अपत्नी के पास जाता है और कहता है की मेरा सपना पूरा हो गया है यह जादुई चक्की मुझे मिल गयी है पत्नी देखती है और कहती है की यह बात तो सच है यह काम कैसे करती है क्या तुम्हे पता है. From the second day, Bhola asked for a mill and started making money by selling it in the market. You will enjoy those stories as well your kids will learn the morals and new thoughts.

Next

जादुई चक्की की कहानी Magical Mill Story in Hindi

जादुई चक्की

Bhola: — give me rice, mill The rice immediately starts coming out of the mill. When your needs are fulfilled then cover it with a white cloth. जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani वह पड़ोसी उनके घर से वह जादुई चक्की को चुरा लेता है क्योकि उसे पता है की यह जादुई चक्की सब कुछ कर सकती है वह कहता है की अब मेरे पास यह चक्की आ गयी है अब हमे यहां से चलना होगा वह पड़ोसी उस जादुई चक्की को लेकर जाता है उसे पता है की अब हमारा यहां पर रहना ठीक नहीं होगा वह एक नाव से दूसरे गाँव में जा रहे थे लेकिन उसकी पत्नी को विश्वास नहीं था इसलिए वह कहती है की हमे इस जादुई चक्की से कुछ मांगना चाहिए उसके बाद यह पता चल जाएगा की यह जादुई चक्की काम कर रही है या नहीं, जादुई चक्की की कहानी Jadui Chakki Ki Kahani वह पड़ोसी कहता है की तुम्हे यकीन नहीं होता है मगर मुझे यकीन है क्योकि मैंने उन्हें ऐसा करते देखा था वह जादुई चक्की से कहता है की हमे बहुत सारी दाल दे वह चक्की चलती है और उन्हें दाल देती है मगर रूकती नहीं है वह आदमी कहता है की मुझे पता नहीं इसे कैसे रोकते है उसके बाद वह नाव वजन से डूब जाती है. After that Bhola and his wife should eat their food full. एक गांव में रामू नाम का आदमी रहता था। वह बहुत ही गरीब था उसका परिवार बहुत मुश्किल में था क्योकि वह अपने परिवार को कोई भी सुविधा नहीं दे पाता था। जिससे उसका परिवार मुश्किल में था मगर वह तो यही बात सोचता था की जो भी भगवान करते है वह अच्छा ही करते है। यह भी हो सकता है की भगवान ने उनके लिए कुछ अच्छा ही सोचा होगा जिसे वह वक़्त आने पर ही देंगे। एक दिन रात को रामू सो रहा था तभी वह सपना देखता है की उसके पास एक जादुई चक्की आती है। वह उस जादुई से अपने लिए बहुत तरह के सामान मगाता है। जिससे उसके सामने सभी समस्या खत्म हो रही है। वह Jadui Chakki उनके लिए हर तरह का आटा पीस सकती है। वह भी सिर्फ नाम लेकर ही ऐसा हो जाता था। रामू को सपना बहुत अच्छा लग रहा था मगर यह सपना कितनी देर तक था यह बात रामू को जब पता चलती है जब उसका सपना टूट जाता है क्योकि सुबह होती है वह उठ जाता है। जब सुबह हो जाती है तो रामू उठ जाता है। और अपनी पत्नी से यह बात कहता है की आज मेने सपने में चक्की देखी थी यह चक्की हमारे लिए सभी काम कर रही थी पत्नी ने कहा की यह तो सपना है। मगर हकीकत में ऐसा नहीं है तुम जाग गए हो और इस तरह के सपने सच नहीं होते है। सच में हमारी हालत तो बहुत खराब है हम कुछ भी नहीं कर पाते है रामू भी इस बात को समझ गया था। Jadui Chakki ki Kahani रामू अपने काम पर जाता है। मगर वह जादुई चक्की का सपना भुला नहीं था उसे याद था की नदी किनारे में उसे वह जादुई चक्की मिली थी अब रामु को लग रहा था की शायद हमारा सपना पूरा हो सकता है। वह नदी किनारे पर जाता है मगर वहा पर कोई भी Jadui Chakki नहीं है वह उदास हो जाता है। तभी उसे एक नाव आती हुई नज़र आती है इस नाव में तो कोई भी नहीं है रामू उस नाव की और जाता है। और कहता है की इसमें कोई नहीं है मगर एक चक्की रखी हुई है इसका मतलब मेरा सपना पूरा हो गया है। वह जादुई चक्की जो मेरे सपने में थी वह यहां पर रखी हुई है। वह बहुत खुश हो जाता है। आज उसका सपना पूरा हो गया था वह उस जादुई चक्की को लेता है। और घर चला जाता है वह अपत्नी के पास जाता है और कहता है की मेरा सपना पूरा हो गया है। यह Jadui Chakki मुझे मिल गयी है पत्नी देखती है और कहती है की यह बात तो सच है यह काम कैसे करती है क्या तुम्हे पता है। वह आदमी कहता है की इस Chakki के सामने जो भी नाम लिया जायेगा उसके बाद वह काम करने लगेगी हमे जो भी चाहिए यह दे सकती है मगर पत्नी को इस बात पर कोई विश्वास नहीं था। अब उनके दिन बदलने वाले थे क्योकि उन्हें अब खाना मिल गया था। आज उन्हें कोई कमी नहीं था भले ही उन्होंने धन का लालच नहीं किया था क्योकि वह उस Chakki से अपने लिए खाना ही मंगवाते थे उन्हें जब भी भूख लगती है। वह उस जादुई चक्की से अपने लिए भोजन की व्यवस्था कर चुके होते है पत्नी भी अब जानती थी की अब हमे मुसीबत का सामना नहीं करना होगा उनका पड़ोसी यह सब देख रहा था की आज उनके पास खाने को सब कुछ है। Jadui Chakki ki जबकि ऐसा समय भी था जब उनके पास कुछ नहीं था। जरूर इसके पीछे कुछ ऐसा है जो मुझे पता नहीं है। वह भी यह देखने के लिए रात को उनके घर के पास खड़ा हो जाता है। क्योकि वह इस बता को जानना चाहता था की यह सब कुछ कैसे हो रहा है। वह खिड़की के पास खड़ा हुआ था और देख रहा था एक जादुई चक्की यह सब कुछ कर रही है उसे विश्वास नहीं होता है। मगर जब वह देख रहा था तो उसे अब यकीन हो गया था की यह सब कुछ वह जादुई चक्की कर रही है। वह पड़ोसी अब उस जादुई चक्की को लेना चाहता था क्योकि वह सब कुछ कर सकती है वह अपने घर जाता है। और कहता है की हमे यह गांव आज रात को ही छोड़ना होगा क्योकि अगर हम यहां पर रहते है तो वह जादुई चक्की कोई भी ले जा सकता है। उसकी पत्नी कहती है की यह Jadui Chakki क्या करती है। उसका पति कहता है की यह सब कुछ कर सकती है हमे धन भी दे सकती है। वह पड़ोसी उनके घर से वह जादुई चक्की को चुरा लेता है। क्योकि उसे पता है की यह Jadui Chakki सब कुछ कर सकती है वह कहता है की अब मेरे पास यह चक्की आ गयी है। अब हमे यहां से चलना होगा वह पड़ोसी उस जादुई चक्की को लेकर जाता है। उसे पता है की अब हमारा यहां पर रहना ठीक नहीं होगा वह एक नाव से दूसरे गाँव में जा रहे थे लेकिन उसकी पत्नी को विश्वास नहीं था। इसलिए वह कहती है की हमे इस जादुई चक्की से कुछ मांगना चाहिए उसके बाद यह पता चल जाएगा की यह जादुई चक्की काम कर रही है या नहीं। वह पड़ोसी कहता है की तुम्हे यकीन नहीं होता है। मगर मुझे यकीन है क्योकि मैंने उन्हें ऐसा करते देखा था वह जादुई चक्की से कहता है की हमे बहुत सारी दाल दे वह चक्की चलती है। और उन्हें दाल देती है मगर रूकती नहीं है वह आदमी कहता है की मुझे पता नहीं इसे कैसे रोकते है। उसके बाद वह नाव वजन से डूब जाती है। और इस तरह दोनों नाव के साथ डूब जाते है और अपनी जान गवानी पड़ती है और इस तरह उसको अपने लालच का फल मिल जाता है। Moral of the story:- इस तरह यह कहानी हमे यही कहती है। की हमे कभी भी गलत काम नहीं करना चाहिए। और लालच करने से हमेसा अपना ही नुकसान होता है।. Jadui Chakki :- Friends, here you will get to read the story of the Jadui chakki.

Next